अमूमन लोग कोई भी सामान खरीदने से यही सोचते हैं कि जो पसंद आएगा, वही ले लेंगे। मगर यह बात इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों में फिट नहीं बैठती। हर दिन नई तकनीक और फीचर्स के चलते गैजेट बाजार में बदलाव होते रहते हैं। फिर चाहे वह मोबाइल हो या पर्सनल पीसी। लैपटॉप जैसे उत्पाद को खरीदने से पहले तो कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। स्टूडेंट, बिजनसमैन और फील्ड में काम करने वाले लोगों के दिमाग में यह सवाल जरूर उठता है कि जरूरत के हिसाब से कौन सा लैपटॉप अच्छा होगा। इसमें मदद करेंगी ये छोटी किंतु महत्वपूर्ण बातें।.
मजबूती पर दें ध्यान:-
जो भी मॉडल चुनें, वह मजबूत और टिकाऊ हो। उसके सर्विस सेंटर हर जगह हों, ताकि किसी समस्या के सामने आने पर उसका समाधान मिल सके। तकनीकी रूप से लैपटॉप में हाई क्वालिटी प्रोसेसर लगा होना चाहिए। लैपटॉप का भार ज्यादा न हो, क्योंकि हो सकता है कि आपका अधिकतर समय सफर में गुजरता हो। 
मैमोरी हो अच्छी:-
बिजनेस के लिए लैपटॉप लेना हो या स्टूडेंट के लिए, उनमें अच्छी मैमोरी का होना महत्वपूर्ण है। हालांकि आजकल लैपटॉप में एक्सपेंडेबले मैमोरी का ऑप्शन दिया जा रहा है। ऐसे में कोशिश करें कि एक्सपेंडेबल मैमोरी की स्पेस ज्यादा हो, इससे लैपटॉप तेज प्रोसेसिंग देता है। साथ ही आपका ज्यादा से ज्यादा डाटा भी उसमें महफूज रह सकेगा। इसके साथ ही सिक्योरिटीज फीचर्स भी ध्यान में रख कर किसी मॉडल का चयन करें।
गेमिंग लैपटॉप:-
अगर आप महज गेमिंग के लिए लैपटॉप लेना चाहते हैं, तो उसमें अच्छी स्क्रीन, बेहतरीन रिज्योलूशन और दमदार ग्राफ्रिक सपोर्ट होना चाहिए। गेमिंग लैपटॉप को खरीदने से पहले बजट थोड़ा बढ़ा कर चलें, क्योंकि बिजनेस और स्टूडेंट लैपटॉप के मुकाबले गेमिंग लैपटॉप में तकनीकी रूप से ज्यादा अच्छे कंफीग्रेशन की जरूरत पड़ती है। इस कारण उनकी कीमत ज्यादा होती है।
वारंटी देख लें:-
अक्सर देखा गया है कि कंपनियां लैपटॉप खरीदने पर 6 महीने से लेकर 1 साल की ही वारंटी देती हैं। जब भी नया लैपटॉप खरीदें, उसमें पहले से लोडेड सॉफ्टवेयर को जांच कर लें कि वे सही तरीके से काम कर रहे हैं कि नहीं। कंपनियां शुरुआत में कुछ ट्रायल सॉफ्टवेयर देती हैं, जो कुछ समय बाद एक्सपायर हो जाते हैं। इसके बाद उन्हें हटाना पड़ता है, जिससे अन्य सॉफ्टवेयर के डिलीट होने का डर भी बना रहता है। ऐसे में ट्रायल सॉफ्टवेयर से बच कर रहें।

Advertisements