उसकी मुस्कुराहट में भी छुपा कोई गम था शायद ?

ऐ ‘अनिश’

वरना हलकी सी मुस्कुराहट पे आंसू नहीं आते…..

Advertisements