मेरे सजदों कि इबादत को तू क्या जाने ???

हाथ जो उठाया तेरी खुशियाँ मांगी…

सर जो झुकाया तेरी जिंदगी मांगी…
———————–(अनजान)

शुभ रात्रि स्नेही मित्रों

Advertisements